home-loan-लेने-से-पहले-जाने-10-जरूरी-बाते

home loan लेने से पहले जाने 10 जरूरी बाते

घर खरीदने के लिए home loan एक बहुत ही बेहतर विकल्प है क्योंकि एक साथ 20 से 30 लाख रुपये बचा कर रखे जायें और फिर घर खरीदा जाये, तो यह बहुत ही कम हो पाता है। ऐसा करने में लोगो का पूरा जीवन निकल जायेगा और वे अपने खुद के सपनो के घर में नहीं रह पायेगें।

20 से 30 लाख रुपये बचाकर रखें जाये फिर घर खरीदा जाये यह उस तुलना में बहुत अधिक कठिन है कि आप 20 से 30 लाख का लोन ले लें और महीने की 15 से 20 हजार की मासिक किस्त भरते रहे।

अधिकतर नौकर पेसा लोगो, छोटे व्यापारी व दुकानदारो के लिए home loan एक बेहतर विकल्प होता है जिससे वे अपने सपनो का घर खरीद पाते हैं।

होम लेना अपने सपनो का घर खरीदने के लिए एक तरफ एक बेहतरीन मौका होता है, तो दूसरी तरफ यह एक सिरदर्द भी होता है।

आपने बैंक से 20 से 30 लाख रुपये का लोन करा लिया और अपने खुद के घर में रहने लगे किंतु अब आप पर एक जिम्मेदारी आ गई, हर महीने आपको अपनी मासिक किस्त भरनी है। इसके अलावा जब तक आपने बैंक लोन का पूर्ण भुगतान नहीं किया है तब तक आप घर के मालिक नहीं है।

यदि किसी कारण वस आप बैंक का पूर्ण लोन का भुगतान करने मे सामर्थ्य नहीं होते है, तो बैंक आपका घर अपने कब्जे मे ले लेता है और अभी तक आपने जो कुछ भी लोन का पैसा भरा है वह सब व्यर्थ ही चला जायेगा।

इसलिए home loan कराने से पहले कुछ बातो का अवश्य ध्यान देना चाहिए, जो कि हम इस पोस्ट में आपको बताने जा रहे हैं।

home loan कितने प्रकार के होते हैं ?

Table of Contents

घर खरीदने व बनाने के आधार पर, मुख्यतः हम घर के संबंध में तीन कामो के लिए लोन ले सकते है। घर खरीदने के लिए, घर बनाने के लिए और घर की मरम्मत कराने के लिए, इसलिए हम कह सकते है कि home loan के तीन प्रकार के होते हैं।

1. घर खरीदने के लिए (home purchase loan)

आप home loan लेकर बना बनाया घर खरीद सकते है या फिर घर बनाने के लिए प्लोट भी खरीद सकते हैं। हम जिस से भी बना बनाया घर या घर बनाने के लिए प्लोट खरीदते हैं, बैंक उसके नाम से चैक बना कर देता है और रजिस्ट्रि के ऑर्जिनल दस्तावेज अपने पास रखकर आपको लोन दे देता है।

2. घर बनाने के लिए (home construction loan)

यदि आपके पास पहले से ही घर बनाने के लिए प्लोट है, तो आप उसे बनाने के लिए बैंक से कंस्ट्रक्शन लोन लेकर उसे बना सकते है। मौजूदा समय में बैंक 1200 रुपये पर स्क्वायर फिट के अनुसार होम कंस्ट्रक्शन लोन देता है। इस लोन के पैसो को बैंक किश्तो में आपको देता है, जैसे जैसे आपका घर बनता जायेगा वैसे वैसे बैंक आपके लोन की किश्त आपको देता जाता है। इस लोन का उपयोग आप केवल अपने घर बनाने मे कर सकते है।

3. घर की मरम्मत कराने के लिए

यदि आपका घर पहले से बना है, उसमें कोई टूट फूट हुई है उसकी मरम्मत कराने के लिए या फिर घर का अन्य कोई हिस्सा बनाने या फिर एक मंजिला और घर बनाने के लिए आप home loan ले सकते है।

यदि आप घर बनने के बाद, घर पर मॉर्गेज लोन लेते हैं, तो वह आप अपने व्यापार के लिए लेते है। मॉर्गेज लोन, home loan के प्रकार मे नहीं आता है क्योंकि इसमे न तो आप घर खरीदते हैं और न ही उसे बनाते है, बल्कि आप बने बनाये घर पर लोन लेते है। इसकी व्याज दर home loan के व्याज दर से अधिक होती है।

home loan सुरक्षित लोन ( secure loan )  है या असुरक्षित लोन (unsecure loan)

home loan एक सुरक्षित लोन है क्योंकि जब आप लोन लेते हैं, तो बैंक आपकी रजिस्ट्रि के ऑर्जिनल दस्तावेज अपने पास गिरवी के रूप में रख लेता है। जब तक आप लोन की पूरी रकम नहीं चुका देते है, तब तक आपकी रजिस्ट्रि बैंक के पास ही रहती है।

एक तरह से कहा जाये तो जब तक आपने अपना लोन चुकता नहीं किया है, तब तक बैंक ही आपके घर का असली मालिक है।

यदि आप home loan का पैसा नहीं चुका पाते हैं, तो बैंक का आपके घर पर मालिकाना हक हो जाता है। फिर बैंक चाहे तो आपके घर को किसी को भी बेच कर अपने पैसे बसूल सकती है।

secure and unsecure loan में अंतर क्या है ? जानने के लिए लिंक को फॉलो करे

home-loan-लेने-से-पहले-जाने-10-जरूरी-बाते

कम व्याज दर की तलाश करें

जो भी बैंक व फाइनेंस कंपनियॉ home loan प्रदान कराती हैं, उनके व्याज दरो में कुछ न कुछ अंतर अवश्य होता है। यदि हम home loan की बात करें तो इसकी अवधि लंबी जाती है। 20 से 30 साल तक के लिए लोन होता है जिस कारण 0.05 % की व्याज दर अंतर से भी लंबे समय में लाखो रुपये का अंतर आ जाता है।

 इसलिए home loan लेने से पहले यह आवश्यक है कि आप एक बार सभी बैंक में पता कर ले कि कौन सा बैंक आपको सबसे कम व्याज दर पर लोन दे रहा है। जो बैंक आपको सबसे कम व्याज दर पर लोन दे, आप उसे ज्यादा महत्व दें और उसी से अपना लोन करायें।

प्रोपर्टी फाइनल करने से पहले, home loan के लिए आवेदन कर लें

यदि आप किसी स्थान पर प्रोपर्टी फाइनल कर लेते हैं और उसके लिए कुछ टोकन मनी दे देते हैं और उसके बाद home loan के लिए आवेदन करते हैं। ऐसे में यदि किसी कारण वस आपका लोन अस्वीकार कर दिया जाता है, तब आपके लिए परेशानिया खड़ी हो सकती हैं।

इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आप यदि home loan के माध्यम से प्रोपर्टी खरीद रहे हैं, तो आप प्रोपर्टी के लिए डील फाइनल करने से पहले लोन के लिए आवेदन कर लें।

 बैंक को व्याज दर कम कराने के लिए कहें

बैंक यदि कहता है कि वह home loan पर 6.5 प्रतिशत की व्याज दर दे रहा है, तो इसका मतलब है कि बैंक यह व्याज दर सिर्फ उन्ही लोगो को देता है जिनके सारे दस्तावेज एकदम परफेक्ट हैं और जिनके सिबिल स्कोर व अन्य सारे रिकॉर्ड अच्छे है। बाकि लोगो को बैंक सिबिल स्कोर कम बता कर, इनकम में कोई कमी बता कर या फिर आप जिस कंपनी में जॉब कर रहें हैं उसकी वेल्यू कम बता कर कि कंपनी प्राइवेट लिमिटेड नहीं है,

SBI home loan EMI Calculate करें

आपकी जॉब प्रोफाइल बेहतर नहीं है, आप जिस प्रोपर्टी पर लोन कराना चाहते हैं, वह बैंक में लिस्टेट नहीं है इत्यादि। बैंक आपको कोई न कोई कमी बतायेगा और फिर कहेगा कि आपका लोन तो हो जायेगा किंतु व्याज दर थोड़ी सी ज्यादा होगी।

ऐसी स्थिति में आप बैंक से व्याज दर कम कराने के लिए कहें, आप बैंक से इस मामले में वहस करें। याद रहे कि यदि आप कुछ पोइंट ही अपनी व्याज दर कम करा लेते हैं तो लंबे समय में आप अपने लाखो रुपयों का फायदा कर लेते है।

अधिकतर लोग सब्जी भाजी खरीदते वक्त दो पांच रुपये के लिए मोल भाव करते हैं किंतु लाखो रुपये वाली चीज पर नहीं क्योंकि उन्हे लगता है कि इनके भाव फिक्स होते  हैं। ऐसा नहीं होता है आप लाखो रुपये की चीज पर भी मोल भाव कर सकते है।

यदि आप कोई 30 लाख रुपये का लोन लेते हैं तो आप  20 साल मे इसके लिए लगभग 30 लाख रुपये व्याज के तौर पर भरते हैं, इसमे बैंक का 20 से 25 लाख रुपये का फायदा होता है।  अब यदि आप बैंक से व्याज दर के कुछ पोइंट कम कराने के लिए कहते हैं, तो मान लेते है कि बैंक को  एक से दो लाख रुपये का कम फायदा होगा।

इसलिए यदि आप व्याज दर में कुछ पोइंट कम कराने के लिए बैंक से वहस करते हैं तो आप अपना लाखो का फायदा कर सकते हैं। एक दो लाख के लिए बैंक आपकी फाइल को नहीं छोड़ेगा और आपके लोन की व्याज दर कुछ पोइंट कम हो जायेगी इसकी अधिक संभावना है।

आपकी इनकम कम है तो ज्वाइंट home loan लें

जब आप home loan के लिए जाते हैं और यदि आपके लोन की किस्त के लिए आपकी इनकम कम बैठ रही हो, तो आप अपने परिवार के अन्य सदस्यो को लोन मे सहभागी बनाकर उनकी इनकम जोड़ सकते है।

अपने घर के सदस्यो को लोन में सामिल कर ज्वाइंट home loan लेने से आप लोन के लिए अपनी आय को भी अधिक दिखा सकते हैं। साथ ही में सभी लोन सहभागी लोन लेकर टेक्स में भी छूट पा सकते हैं।

आप दूसरे शहर में जॉब करते है और किसी अन्य शहर मे home loan करा सकते है।

ऐसा बिल्कुल हो सकता है कि आप भोपाल में जॉब करते हों और आप इंदौर में कोई घर या प्लोट खरीदे तो उसके लिए आप home loan करा सकते है।

home loan में सब्सिडी कैसे मिलती है

भारत सरकार के द्वारा अपने पहले घर खरीदने या उसे बनबाने के लिए लिया जा रहे लोन पर 2.67 लाख रुपये तक की छूट मिलती है। इस छूट के  लिए कुछ नियम व शर्ते हैं जैसे कि आप जिस घर को बनाने या खरीदने के लिए लोन लेते है, वह आपका पहला घर होना चाहिए। घर की रजिस्ट्री महिला के नाम से हो, महिला पहले से ही किसी अन्य घर की मालिक न हो। भारत सरकार द्वारा home loan पर दी जाने वाली यह सब्सिडी सीमित समय के लिए थी किंतु इसकी अवधि बढ़ाकर अंतिम तिथि 31 मार्च 2022 कर दी गई है।

महिला को आवेदक बना कर लें व्याज दर में छूट व अन्य लाभ

यदि आप home loan के लिए महिला को मुख्य आवेदक बनाते हैं, तब इसमें आप व्याज दर पर अतिरिक्त छूट व अन्य ऑफरो का लाभ ले सकते हैं।

समय समय पर कई बैंक home loan में महिलाओ के लिए विशेष प्रकार के ऑफर व व्याज दर में छूट देते है।

मैं फिर से याद दिला देता हूँ, home loan के व्याज दर में कुछ पोइंट के कम हो जाने से भी लंबी अवधि में आपको लाखो रुपये का लाभ हो सकता है।

आप लोन कराने से पहले बैंको मे पता करें कि यदि महिला के नाम से आवेदन होता है तो बैंक आपको इसमे क्या क्या अतिरिक्त लाभ दे सकता है।

आप अपने बजट के अनुसार चुने लोन

चॅूकि home loan लंबी अवधि के लिए चलता है, 15 से 20 साल के लिए, इसलिए आप बड़े धैर्य पूर्वक इसे चुने। आप अगले 15 से 20 साल में आने वाले अपने छोटे बड़े खर्च जैसे बच्चो की पढ़ाई, बच्चो की शादी व अन्य बड़े खर्चो को ध्यान में रखकर ही अपना लोन चुने।

 बैंक के नियम व शर्तो को ध्यान से अवश्य पढ़े

अपने लोन का फाइनल करने से पहले बैंक के सभी नियम व शर्ते ध्यान से अवश्य पढ़े। कब किस कंडिशन मे बैंक आपसे अतिरिक्त चार्ज कर सकता है। किन किन कंडिशन में बैंक आपके घर पर कब्जा कर सकता है। फोरक्लोस करने पर बैंक के क्या नियम है इत्यादि।

home loan लेने से पहले बैंक की इन पोलिसी के नियम व शर्तो की जांच अवश्य करें

व्याज दर फ्लोटिंग रहेगी या फिक्सड

अपना लोन फाइनल  करते वक्त यह भी ध्यान में रखे कि आपका लोन फ्लोटिंग यानि कि आरबीआई ने यदि home loan व्याज दर में परिवर्तन किया तो आपके लोन की भी व्याज दर मे परिवर्तन आ सकता है।

यदि आपकी व्याज दर फिक्सड है तो फिर जब तक आपका लोन चलेगा तब तक आपकी व्याज दर समान ही रहेगी।

बल्क पेमेंट / bulk part payment

आपके home loan की जो भी मासिक किस्त जाती है उसके अलावा यदि आपके पास एक साथ बल्क मे कहीं से पैसा आ जाता है, तो आप  बल्क में पैसा जमा कर सकते हैं, तो उसकी क्या नियम व शर्ते है।

आप अपनी मासिक किस्त के अलावा एक साथ बल्क पेमेंट या पार्ट पेमेंट कर सकते हैं। उसके लिए बैंक अलग से कोई चार्ज आदि तो नहीं करेगा, इसकी भी जानकारी लें।

आप यह सुनिश्चित करें कि बैंक पार्ट पेमेंट स्वीकार करता हो और उसके लिए कोई अलग से चार्ज करता हो, आप उसी बैंक के साथ लोन के लिए जायें।

फोरक्लोस चार्ज / foreclose charge

जब तक आपका लोन चलता रहता है, तब तक आपके कंदे पर लोन का पूर्ण भुगतान करने की एक जिम्मेदारी बनी रहती है। यदि आप 20 साल तक home loan चलाते हैं, तो इतने समय में आपने जितना लोन का पैसा लिया उतना ही पैसा व्याज के रूप मे बैंक को भरते हैं।

यदि आपने 20 साल का लोन कराया, बीच में दो चार बार पार्ट पेमेंट कर दिया, अब इससे आप अपनी मासिक किस्त कम करा सकते हैं या फिर आपके लोन की अवधि कम हो जाती है।

इसके साथ ही यदि आपके पास बकाया पूरे पैसे का कहीं से इंतजाम हो जाता है, तो आप चाहते हैं कि लोन का पूर्ण भुगतान कर इससे छुटकारा पाया जाये।

यदि आप लोन की अवधि पूर्ण होने से पहले ही लोन का बकाया पूरे का भुगतान करते हैं तो इसे फोरक्लोस कहते है यानि कि लोन अवधि के पूर्ण होने से पहले ही पूरे लोन का भुगतान कर देना।

आप यह भी सुनिश्चित कर लें कि आपका बैंक फोरक्लोस करने का कोई अतिरिक्त चार्ज लेता हो।

मासिक किस्त को परिवर्तित कराने के लिए कोई अतिरिक्त चार्ज

मान लेते हैं कि आपकी home loan की जो मासिक किस्त 15,000 रुपये जा रही है। आपकी इनकम मे बढ़ोत्तरी हुई है और आपको लगता है कि अब आप 20,000 या 25,000 रुपये मासिक किस्त भर सकते है। आप ऐसा इसलिए करना चाहते हैं ताकि आप इस लोन के भार से जल्दी मुक्त हो सके।

या फिर कभी आपके साथ पैसो की समस्या आन पड़े और आपको 15,000 रुपये की किस्त भरने में भी दिक्कत आने लगे और आप चाहें कि कुछ महिने के लिए आपकी किस्त 10,000 जाने लगे। भविष्य में आपकी आय और खर्चे को ध्यान में रखकर मासिक किस्त में भी परिर्वर्तन किया जा सकता है।

आप इसके लिए भी बैंक की पोलिसी की जांच कर लें कि बैंक मासिक किस्त में परिर्वतन कराने की सुविधा देता है या नहीं। यदि देता हो तो उसके लिए अतिरिक्त चार्ज तो नहीं करता है।

मासिक किस्त कुछ महीने के लिए होल्ड कराने की सुविधा

आपने दो या तीन साल तक अपना लोन ठीक से चलाया किंतु अचानक से आपकी आर्थिक स्थिती खराब हो गई, आपकी जॉब चली गई या कुछ और समस्या हो गई। ऐसे में आपके सामने अपने लोन की मासिक किस्त भरने की समस्या आन खड़ी हुई है। बैंक आपको ऐसी मुश्किल घड़ी में मद्द करे और कुछ महीनो के लिए आपकी किस्त रोक दी जाये। जब आपको दोबारा से जॉब मिल जाये तो फिर से आपकी किस्त शुरू कर दी जाये।

बीमा कवर

जब आप home loan कराते हैं, तो साथ में आपको अपने लोन का बीमा कवर भी कराना होता है ताकि यदि किसी दुर्घटना में आपके साथ कुछ अनहोनी हो जाये, तो बीमा कंपनी आपके लोन की जिम्मेदारी ले ले। लोन के साथ बीमा कवर कराना अनिवार्य होता है ताकि आपके बाद आपके परिवार पर लोन चुकाने का भार न आये।

बीमा कवर तो आपको लेना ही होता है किंतु इस मामले में आप यह कर सकते हैं कि बीमा कवर आपको किस कंपनी से लेना है।

आप जिस बैंक से home loan ले रहें हैं वे ही आपका बीमा कवर करते हैं किंतु आप इसे अपने हिसाब से चुन सकते हैं कि आपको किस कंपनी से बीमा कवर कराना है।

यदि आप अपने अनुसार बीमा कवर लेते हैं, तो आप ऐसा करके कुछ पैसे बचा सकते हैं।

फाइल व अन्य अतिरिक्त चार्ज 

आपने home loan कराने से पहले कुछ बैंको से जानकारी जुटाई और उसके अनुसार लगभग सभी बैंको मे आपको एक ही व्याज दर पर लोन मिल रहा है। तब इस स्थिति में आप फाइल व अन्य चार्जो की एक बार अवश्य तुलना करें। कई बार कुछ बैंको में ऑफर चलता रहता है कि फाइल चार्ज नहीं लगेगा या बहुत ही कम लगता है।

अपना home loan कराने से पहले आप बैंको के फाइल चार्ज अन्य अतिरिक्त चार्जो की तुलना अवश्य करें। ऐसा करके आप अपना कुछ पैसा बचा सकते है।

यदि आपका कोई दोस्त या संबंधि home loan के बारे मे सोच विचार कर रहा है, तो उसे यह पोस्ट अवश्य शेयर करें ताकि उसे लोन लेने से पहले जरूरी जानकारी मिल सके। घर के लिए लोन के संबंध में अपने अन्य सवाल हमें कमेंट बॉक्स मे लिखकर पूछ सकते हैं।

निवेश व फाइनेंस के संबंध में हमारी नई पोस्ट की जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब अवश्य करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.