credit card reject होने के 7 मुख्य कारण

credit card reject होने के 7 मुख्य कारण

यदि आपके क्रेडिट कार्ड का एपलिकेशन बार बार रिजेक्ट हो रहा है, तो आप उसके रिजेक्ट होने के कारण का अवश्य पता करे और अगली बार जब  आप क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें तो आपका credit card reject न हो।

इस पोस्ट में हम आपको उन मुख्य कारणो के बारे मे बताने जा रहे है जिनसे credit card reject  होते है। credit card reject होने के कारणो के बारे में यदि आपको पहले से पता होगा, तो आप इनको ध्यान मे रख कर अपना क्रेडिट कार्ड अप्लाई करेगें और credit card reject होने के स्थान पर आपका क्रेडिट कार्ड approved होगा।

1. credit card reject होने का सबसे बड़ा कारण आपका क्रेडिट स्कोर होता है

 अधिकतर क्रेडिट कार्ड प्रोवाइड कराने वाले बैंक व अन्य फाइनेंस कंपनिया क्रेडिट कार्ड देने के लिए कस्टमर के एक निश्चित क्रेडिट स्कोर की मांग करती हैं।

यदि क्रेडिट कार्ड अप्लाई करने वाले कस्टमर का क्रेडिट स्कोर उस र्निधारित स्कोर से अधिक होगा तभी उसका क्रेडिट कार्ड approved होगा।

एक सामान्य प्रोफाइल के लिए अधिकतर बैंक क्रेडिट कार्ड देने के लिए कस्टमर का क्रेडिट स्कोर कम से कम 700 या 750 तक हो तभी  देती है यदि ऐसा नहीं है तो उनका credit card reject हो जाता है ।

CIBIL.COM से अपना सिबिल स्कोर चैक करने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

अब आप जब भी किसी बैंक में क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें, तो यह पहले ही जान लें कि वह बैंक क्रेडिट कार्ड approved करने के लिए  कम से कम कितना क्रेडिट स्कोर लेता है।  यदि आपका क्रेडिट स्कोर बैंक के द्वारा क्रेडिट कार्ड approved करने के लिए न्यूनतम क्रेडिट स्कोर से अधिक है तभी आप कार्ड के लिए उस बैंक में अप्लाई करें।

यदि आपका क्रेडिट स्कोर कम है और आप उसे सुधारना चाहते हैं, तो नीचे दी गई लिंक को फॉलो करें।

खराब cibil score को कैसे सुधारे, 6 बेस्ट सुझाव हिंदी में

मान लेते है कि आप ICICI बैंक मे क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहते हैं और ICICI क्रेडिट कार्ड approved करने के लिए न्यूनतम क्रेडिट स्कोर 700 लेता है। जबकि आपका क्रेडिट स्कोर 690 है, तो आप इस समय ICICI बैंक में क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई न करें, बैंक की पोलिसी के अनुसार आपका credit card reject हो जायेगा। आप कुछ समय के लिए इंतजार कर लें या फिर अन्य बैंक से संपर्क करें, जो 690 क्रेडिट स्कोर होने पर भी कार्ड देता हो।

याद रहे आप जिस भी बैंक में क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें आपका क्रेडिट स्कोर उस बैंक के क्रेडिट कार्ड approved करने के लिए न्यूनतम क्रेडिट स्कोर की मांग से अधिक हो, तभी आप उस बैंक में क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें।

2. डुप्लीकेट एपलिकेशन (duplicate application)

यदि एक बार आपका किसी बैंक ने आपका credit card reject कर दिया है, तो आप उस बैंक में दूसरी बार क्रेडिट कार्ड उस बैंक की पोलिसी के अनुसार एक र्निधारित समय पूरा होने के बाद ही करें।

यदि ICICI बैंक आपका credit card reject कर देता है, तो आप बैंक की पोलिसी के अनुसार 6 महीने बाद ही दोबारा से क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

यदि आप 6 महीने के पहले ही कार्ड के लिए रिअप्लाई कर देते हैं, तो आपका क्रेडिट कार्ड डुप्लीकेट एपलिकेशन में रिजेक्ट होता रहेगा और आपका दोबारा से रिअप्लाई का समय 6 महीने  के अंतराल से बड़ता रहेगा।

यदि आपका किसी बैंक में credit card reject होता है, तो अगली बार आप रिअप्लाई करने का समय आने के बाद ही बैंक की सारी पोलिसियों को जानने के बाद ही करें।

3. कम इनकम होना

इनकम कम होने के कारण भी क्रेडिट कार्ड के एपलिकेशन रिजेक्ट होते है। बैंको की पोलिसी के अनुसार शहर, कंपनी, उम्र व जॉब प्रोफाइल के अनुसार अलग अलग इनकम कटऑफ होता है। एक ही कंपनी में एक ही पद पर मौजूद दो अलग अलग उम्र के लोगो के लिए बैंक अलग अलग न्यूनतम इनकम की मांग कर सकती है।

साथ ही बैंको में एक ही उम्र व एक ही पद पर मौजूद दो अलग अलग कंपनियों के लिए अलग अलग न्यूनतम आय की मांग कर सकती है।

आप बैंक की पोलिसी के अनुसार एक बार अवश्य चैक कर ले कि आप इनकम पोलिसी के अनुसार क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने के लिए पात्र हैं या नहीं, इसके बाद ही क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें।

बैंक की पोलिसी के अनुसार आप अपनी कंपनी के नाम, कंपनी में अपने पद, अपनी उम्र व सैलरी सट्रक्चर के अनुसार जांच करायें कि आप क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने के लिए पात्र हैं या नहीं इसके बाद ही क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें।

4. लेटेस्ट वाउंस / latest bounce

आपका क्रेडिट स्कोर बैंक के क्रेडिट कार्ड approved करने के  लिए आवश्यक न्यूनतम क्रेडिट स्कोर से अधिक है किंतु लेटेस्ट 3 महीने के अंदर आपका कोई चैक या लोन की कोई किश्त वाउंस हुई हो, तो इस कारण भी बैंक आपका credit card reject  कर देती है।

कुछ बैंकों में लेटेस्ट 3 महीने के भीतर तो कुछ में लेटेस्ट 6 महीने के भीतर आपकी कोई लोन की किश्त या चैक बाउंस नहीं होना चाहिए, यदि ऐसा हुआ तो बैंक आपका credit card reject कर देती है।

जब भी क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करें तो इस बात पर भी गौर कर लें कि लेटेस्ट 3 महीने के भीतर आपको कोई चैक बाउंस या लोन किश्त बाउंस तो नहीं हुई है। यदि हुई है तो अभी फिर आप क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई न करें।

यदि आप आईटीआर के आधार पर अप्लाई करने जा रहे हैं, तो आप अपने आईटीआर की पहले जांच करा लें कि उस आईटीआर के आधार पर बैंक आपको क्रेडिट कार्ड प्रदान करेगा या नहीं इसके बाद ही आप अप्लाई करें।

5 नेगेटिव प्रोफाइल

आपकी सैलरी बढ़िया फिर भी आपकी कंपनी के कर्मचारियों या फिर आप जिस पद पर हो उस प्रोफाइल के लिए बैंक क्रेडिट कार्ड प्रदान नहीं कराता है, तो भी आपको क्रेडिट कार्ड नहीं मिल पायेगा। जिन कंपनियों के अधिकतर कर्मचारियों ने अतीत में कभी बैंक के क्रेडिट कार्ड का भुगतान न किया हो, बैंक उन कंपनियों को ब्लेकलिस्ट मे कर देता है और फिर उन कंपनियो के किसी भी कर्मचारियों को क्रेडिट कार्ड प्रदान नहीं करता है। इसके आलावा कंपनियो मे कुछ विशेष प्रोफाइल के लोगो को, जिनको बैंक को लगता है कि ये लोग ठीक से कार्ड का उपयोग नहीं कर पायेंगे उन्हे भी नेगेटिव प्रोफाइल में कर देता और उन्हे भी कार्ड प्रदान नहीं कराता है।

जैसे कि बैंक समझता है कि एक ड्राइवर, ऑफिस बाय, फिटर, ऑपरेटर व अन्य उस  प्रोफाइल के लोग जो कार्ड का उपयोग व बिल भरने में सक्षम नहीं है, ऐसे लोगो की कितनी भी सैलरी हो बैंक उन्हे कार्ड प्रदान नहीं कराता है।

इसलिए अपनी कंपनी व अपनी खुद की प्रोफाइल की भी जांच करा लें इसके बाद ही आप कार्ड के लिए अप्लाई करें।

6. एरिया ब्लेकलिस्टेट होने पर भी आपका credit card reject हो सकता है

शहर में कुछ एरिया ऐसी होती हैं, जहाँ के अधिकतर लोगो ने अतीत मे क्रेडिट कार्ड या लोन का भुगतान नहीं किया हो। जब बैंक से इनके भुगतान कराने के लिए कोई रिकवरी एजेंट गया हो और उस एरिया के लोगो का उस एजेंट के प्रति अच्छा व्यवहार न रहा हो। ऐसी स्थिती में बैंक उस एरिया को ब्लेकलिस्टेट कर देता है और फिर उस एरिया के लोगो को लोन व क्रेडिट कार्ड प्रदान नहीं कराती है।

आप भी जब क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करे तो अपनी एरिया का पिनकोड अवश्य चैक करा लें कि कहीं आपकी एरिया ब्लेकलिस्टेट तो नहीं है। यदि ब्लेकलिस्टेट है तो फिर आप क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई न करें अन्यथा आपका credit card reject हो जायेगा।

7. बार बार कंपनी बदलते रहने से भी आपका credit card reject हो सकता है

जब आप क्रेडिट कार्ड या लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो बैंक आपकी जॉब स्टेबिलिटी की भी जांच करता है। बैंक इसकी जांच करता है कि आप किसी भी एक कंपनी में कितने समय तक टिक कर काम करते है।

जब आप क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करते हैं तो बैंक आपसे कम से कम दो या तीन महीने की लेटेस्ट सैलरी स्लिप मांगती है। कई बार जॉब स्टेबिलिटी चैक करने के लिए बैंक आपसे तीन महीने की जगह 6 महीने की सैलरी स्लिप मांग लेती है। ऐसे में जब आप बार बार हर दो से तीन महीने में जॉब बदल लेते है तब आप तीन से 6 महीने की सैलरी स्लिप प्रदान नहीं करा पाते हैं और इस कारण भी आपका credit card reject हो जाता है।

इस पोस्ट में आपको credit card reject होने के जो कारण बताये गये हैं, उनको ध्यान में रख कर ही अगली बार आप क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें। क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करने से पहले आप बैंक की पोलिसी के अनुसार न्यूनतम क्रेडिट स्कोर की मांग, इनकम कटऑफ, लेटेस्ट बाउंस, नेगेटिव एरिया व नेगेटिव प्रोफाइल, जॉब स्टेबिलिटी आदि की जांच करने के बाद, आप इन सब में पास हो जायें इसके बाद ही आप कार्ड के लिए अप्लाई करें।

यदि आप क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करते है और आपका आवेदन बैंक की पोलिसी में रिजेक्ट हो जाता है, तब ऐसे में आपको अप्लाई करने से कोई लाभ नहीं होगा बल्कि उल्टा आपका समय नष्ट होगा और साथ ही आपके क्रेडिट स्कोर के कुछ अंक कम होगें।

इसलिए आप जब भी क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करें, उससे पहले आप इस पोस्ट में बताये गये credit card reject होने के कारणो के आधार पर अपने आवेदन की जांच कर लें, उसके बाद ही अप्लाई करें।

हमारे द्वारा इस पोस्ट में बताई गई जानकारी लाभकारी लगी हो, तो उसे अपने दोस्तो के साथ शेयर अवश्य करें।

साथ ही फाइनेंस व निवेश से संबंधित हमारे नये पोस्ट की अपडेट के लिए हमारे ब्लॉग को subscribe अवश्य करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.