car insurance premium 50 % तक कम कैसे कराये 8 best tips

car insurance premium 50 % तक कम कैसे कराये ? 8 best tips

यदि आप जानना चाहते हैं कि car insurance premium को 50 % तक कम कैसे कराये, तो इस पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़े। premium कम कराने के लिए सबसे पहले हमें उन फेक्टर के बारे में जानना अवश्य है जिनसे car insurance premium तय होती है।

यदि आपका सोचना है कि car insurance premium कार की ब्रांड पर निर्भर करता है, तो यह सत्य है। किंतु यदि आप सोच रहे हैं कि यह केवल कार के ब्रांड व मोडल पर निर्भर करता है तो आप गलत है। दो कारें जो कि एक ही ब्रांड की, एक ही मोडल की है और एक ही साथ खरीदी गई हैं फिर भी दोनो के insurance premium की कीमत कम ज्यादा हो सकती है।

तो आइये जानते हैं उन फेक्टरो के बारे में जो कार insurance तय करते हैं और आप इनको नियंत्रण कर अपनी कार insurance को 20 % से लेकर 50 % तक कम कर सकते हैं।

8 factors जो car insurance तय  करते हैं –

1.आपकी कार की उम्र क्या है ?

जैसा कि हम जानते हैं कि कार की IDV (Insured declared value) उसकी मार्केट वेल्यू पर निर्भर करती है। कार की जितनी कम IDV आयेगी, उतनी ही कम उसकी premium आती है।

 इसका मतलब हुआ कि कार जितनी पुरानी होती जाती है, उसकी मार्केट वेल्यू उतनी ही कम होती जाती है। जिसका सीधा सा मतलब होता है कि कार जितनी पुरानी होती है, उसकी car Insurance premium भी कम आती है।

इस फेक्टर को आप कंट्रोल नहीं कर सकते हैं। परंतु इस बात का आप ध्यान रख सकते हैं कि हर साल आपके insurance की premium कम होनी चाहिए, क्योकि आपकी कार की कीमत कम हुई होती है।

यदि आप हर साल अपनी कार की premium एक ही धन राशि भर रहे हैं, तो आप गलती कर रहे हैं। आप insurance कंपनी से हर साल अपनी car insurance premium कम करने के लिए कहे।

2.आपकी उम्र का भी car insurance premium पर असर पड़ता है।

जिनको कार चलाने का अनुभव अधिक होता है और उम्र 30 से अधिक होती है, उनकी insurance premium, उनकी तुलना में कम होती है, जिनकी उम्र व अनुभव कम होता है।

जिनका कार चलाने का अनुभव अधिक होता है, उनसे दुर्घटना कम होती है, इसलिए premium कम हो जाती है।

ठीक इसी प्रकार 30 साल से अधिक वाले लोग अधिक सावधानी से गाड़ी चलाते है। जबकि 20 साल के आस पास के लोग ज्यादा तेज, रिस्क उठाकर गाड़ी चलाते हैं। इस कारण जिनकी उम्र बीस से कम होती है, उनके कार insurance premium की कीमत अधीक आती है।

इसलिए आप कार insurance कराते समय अपने अनुभव व उम्र का लाभ अवश्य लें और हर साल बढ़ते अनुभव व उम्र के आधार पर हर नये साल आप insurance कंपनी से premium कम कराने के लिए कहें।

3. car insurance premium में कार मोडल का असर पड़ता है

आपकी कार के इंजन की क्या छमता है ? कार किस ब्रांड व मोडल की है इससे भी कार insurance premium पर असर पड़ता है। सिडान कार की insurance premium हटचबैक की तुलना में अधिक रहती है।

4. insurance cover का car insurance premium पर सबसे ज्यादा असर पड़ता है ?

आप अपनी कार insurance पोलिसी में क्या क्या कवर कराना चाहते हैं, इससे सबसे अधिक असर car insurance premium पर पड़ेगा।

आप जितने अधिक add ons कवर को जोड़ेगे, उतनी अधिक आपकी premium बड़ जायेगी। इसलिए आप अपनी पोलिसी में उन्ही add ons कवर को जोड़े जिनकी आपको वाकई जरूरत हो, ताकि आप premium की कीमत कम कर सके।

इस बात का भी विशेष ध्यान रखें कि premium कम कराने के चक्कर में आपके लिए जो कवर जरूर है, उसे मत छोड़ देना।

5. आप कार insurance किस से खरीदते हैं ?

आप कार insurance किस से खरीदते हैं ? इससे भी आपकी car insurance premium में फर्क पड़ता है।

यदि आप कार डीलर से insurance खरीदते हैं, तो उनके पास एक fixed quotation (जो पोलिसी उन्होंने बना  कर रखी है) होता है और वे उसके अनुसार ही आपको खरीदने के लिए कहते हैं।

इसलिए कार डीलर से insurance खरीदना आपको महँगा पड़ सकता है।

इसके बाद यदि आप कार insurance एजेंट से insurance खरीदते हैं, तो इसमें आप अपनी मर्जी से कवर आदि चुन सकते हैं। पोलिसी में क्या होना चाहिए क्या नहीं इसके लिए आप एजेंट से बात कर सकते हैं। एजेंट से खरीदना आपको डीलर से खरीदने की तुलना में सस्ता पड़ सकता है।

एक एजेंट भी अपना कमिशन अधिक बनाने के लिए आपको महँगी से महँगी पोलिसी बेचने की कोशिश करेगा। यदि आप एजेंट से खरीदते हैं तो इसमें एजेंट की कमिशन, का भी पैसा कंपनी काटती है जिससे पोलिसी की premium महँगी हो सकती है।

कार insurance ऑनलाइन खरीदना आपको सबसे सस्ता पड़ सकता है। इसमें आप अपनी पसंद के कवर चुन सकते हैं, कई कंपनियो की insurance पोलिसी की आपस में तुलना कर सकते हैं।

साथ ही आप ऑनलाइन में कई discount व cashback offer का भी लाभ ले सकते हैं।

कार insurance ऑनलाइन खरीदने के 7 जबरदस्त फायदे, जानने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

6. deductibility ले कर car insurance premium कम करायें

यदि आपकी कार से कोई दुर्घटना होती है और उसमें जो खर्च आता है, उसमें आप जो धन राशि का योगदान कर सकते हैं, उसे deductibility कहते हैं  । आप जितने अधिक धन राशि का योगदान पोलिसी में जुड़वायेंगें, आपकी premium उतनी ही कम हो जाती है।

यदि आप बहुत ही सावधानी से गाड़ी चलाते हैं, तब आप पोलिसी में deductibility राशी जोड़ कर कार insurance premium कम करा सकते हैं।

7. NCB (no claim bonus) का लाभ लेकर कार insurance premium कम करायें।

यदि आप पूरे साल insurance का क्लेम नहीं करते हैं, तब आप को अगली साल renewal  premium मे जो छूट दी जाती है, उसे हम NCB कहते हैं।

इसलिए आप पोलिसी लेते वक्त insurance कंपनी की NCB पोलिसी को ध्यान से पढ़े  व इसकी दूसरी कंपनियो की NCB पोलिसी से तुलना करें। फिर आपको जिस कंपनी की NCB पोलिसी बेहतर लगे, आप insurance खरीदते वक्त उस कंपनी को ज्यादा महत्व दे सकते हैं।

इस बात का भी ध्यान रखे कि आप जरूरत पड़ने पर ही insurance क्लेम करें। आप क्लेम करने से पहले अवश्य सोचे की क्लेम करना सही है या नहीं, ताकि आप NCB का लाभ ले सके।

8. car insurance premium में discount पाने के लिए ARAI का उपयोग करें

यदि आप अपनी कार को चोरी से बचाने के लिए ARAI (Automotive Research Association of India) certified anti theft device का उपयोग करते हैं। तब आपको अपनी कार insurance premium में छूट मिल सकती है।

आप अपनी car insurance premium कम करने के लिए सही insurance कंपनी व सही प्लेटफार्म का चुनाव करें, सिर्फ जरूरी कवर को ही पोलसी में जोड़े, बिना जरूरत के क्लेम न करें। आदि बातो को ध्यान में रख कर आप पोलिसी खरीदेगें, तो आप अवश्य ही 10 से 50 % तक अपनी कार insurance premium का पैसा बचा सकते हैं।

thanks for your support please share and comment

आपको यह पोस्ट कैसी लगी कृप्या हमें कमेंट कर अवश्य बतायें।
साथ ही आपने साथियों और मित्रो के साथ इस पोस्ट को अवश्य करें। यदि आप सेल्स और बिजनेस से संबधित किसी topic पर पोस्ट चाहते है। तो हमें कमेंट में अपना topic लिख कर बतायें।

यदि आपको हमारी website आपके लिए helpful साबित होती है, तो हमें subscribe अवश्य करें और अपनो के साथ share कर हमारा हौंसला बढ़ाये।

Leave a Comment

Your email address will not be published.